Latest News
You are here: Home / News / CBI और इंडियन मुजाहिदीन संभालेंगे कांग्रेस का चुनावी मोर्चा: मोदी

CBI और इंडियन मुजाहिदीन संभालेंगे कांग्रेस का चुनावी मोर्चा: मोदी

Modi in Behraichछत्तीसगढ़ के राजनंदगांव में राहुल गांधी की रैली खत्म हुई तो पांच मिनट के भीतर ही बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी हेलीकॉप्टर में उत्तर प्रदेश के बहराइच में रैली के लिए पहुंच गए और अपने राजनीतिक विरोधियों पर जमकर हमला बोला. मोदी ने यूपी सरकार पर मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर हमला बोला तो वोट बैंक की राजनीति का आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार को भी नहीं बख्शा. मोदी ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों के नाम पर सिर्फ बीजेपी विधायकों को बंद कर दिया गया.

नरेन्द्र मोदी ने आरोप लगाया कि आगामी लोकसभा चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस की तिकड़ी के बजाय सीबीआई और इंडियन मुजाहिदीन उनकी तरफ से चुनाव का मोर्चा सम्भालेंगे, ताकि कांग्रेस का किला बचा सकें.

‘ब्रहमा की तपोभूमि’ बहराइच में बीजेपी की विजय शंखनाद रैली में मोदी ने कहा कि देश को वोट बैंक की राजनीति से खतरा है. अपने विरोधियों पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा,”एक के बाद एक जिस तरह की घटनाएं हो रही हैं, ऐसा लगता है कि जो लोग मोदी को गुजरात में परास्त नहीं कर पाये और जिन्हें लगता है कि लोकतांत्रिक तरीके से तो बीजेपी और मोदी को अब रोका नहीं जा सकता, उन्होंने दूसरे तौर-तरीके अपनाये हैं. कभी सीबीआई को पीछे लगा दो, कभी इंडियन मुजाहिदीन को खुली छूट दे दो.” आतंकवाद का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि हम आतंकवाद के आगे नहीं झुकेंगे. हम आतंकवाद को साफ करके रहेंगे.

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी न कहा कि अगले चुनाव में सीबीआई, आईएम चुनाव का मोर्चा संभालेंगे ताकि कांग्रेस को बचा सकें। लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ हो रहा है. लोकतंत्र में हिंसा का स्थान नहीं है.

मोदी ने चेतावनी के अंदाज में कहा “बम, बंदूक और पिस्तौल के सहारे राजनीति करने वाले कान खोलकर सुन लें, हम दूसरी मिट्टी की पैदावार हैं. ना हम आतंकवादियों से झुके हैं, ना झुकने वाले हैं. हम आतंकवादियों को झुकाकर रहेंगे, जड़ से साफ करके रहेंगे.”

मोदी ने सूचना प्रसारण मंत्रालय की तरफ से न्यूज चैनलों को नोटिस भेजे जाने का जिक्र करते हुए कहा कि ये इसलिए किया गया क्योंकि पटना में बीजेपी की रैली थी और दिल्ली में शहजादे की। न्यूज चैनल वाले पटना की रैली दिखा रहे थे। चैनल शहजादे को दिखा तो रहे थे, सुना नहीं रहे थे। दिखाई दे रहे थे तो मोदी, सुनाई दे रहे थे तो मोदी। इससे कांग्रेस बेचैन हो गई। उन्होंने आदेश किया, खबरदार अगर मोदी को लाइव टेलीकास्ट किया तो। पर सवाल मोदी, बीजेपी की रैली का नहीं है। लोकतंत्र की रक्षा का है। विरोधी दल को अपनी आवाज उठाने का अधिकार है। दिल्ली के शहंशाह कान खोलकर सुन लें। हम टीवी पर दिखें या नहीं, हम हिंदुस्तान की अवाम के दिलों में अपनी जगह बना चुके हैं।

राजनीतिक 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश से मोदी ने लगे हाथ पार्टी को बहुमत के जादुई आंकड़े तक पहुंचाने की अपील भी कर दी. उन्होंने कहा, ‘लोग राजनीतिक अस्थिरता के सवाल खड़े करते हैं. अगर उत्तर प्रदेश अकेला तय कर लेगा तो हिंदुस्तान में स्थिर सरकार दे सकता है.’

गत सितम्बर में मुजफ्फरनगर में हुए साम्प्रदायिक दंगों के मामले में बीजेपी विधायकों संगीत सोम तथा सुरेश राणा पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की तामील किये जाने पर सवाल उठाते हुए मोदी ने कहा, “जिस तरह से वोट बैंक की राजनीति की जा रही है, मैं उत्तर प्रदेश के सत्ता में बैठे शहंशाहों से पूछना चाहता हूं कि क्या कारण था कि आपने बीजेपी को बदनाम करने के लिये हमारे दो विधायकों को जेल में बंद कर दिया और जब न्यायपालिका ने उनको छोड़ दिया तो दूसरे कानून लगाकर दोबारा जेल भेज दिया.”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर गरीबों की परवाह न करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, “अभी आपके नवजवान मुख्यमंत्री के क्षेत्र इटावा में तो बिजली मिलती है, उन्हें बाकी प्रदेश को बिजली देने की जरूरत नहीं लगती. खां साहब (नगर विकास मंत्री आजम खां) के यहां बिजली मिलती है बाकी जगह नहीं. शासक वह जो पहले जनता तक पहुंचाये, बाद में जब बचे तो खुद उपयोग करे.”

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उन्हें पत्र लिखकर प्रदेश में लायन सफारी के लिये शेर मांगे. वह लायन सफारी बना रहे हैं. काश अच्छा होता, अगर मुख्यमंत्री सिर्फ शेर नहीं बल्कि किसानों के लिये गीर की गाय भी मांगते. बिजली मांगते, अमूल जैसे डेरी नेटवर्क की समझ मांगते, लेकिन नहीं मांगा. इसके लिये भी तो समझ चाहिये.” यहां तो दो दलों में करप्शन की स्पर्धा चल रही है. सपा-बसपा दोनों दिल्ली की सरकार बचाए हुए हैं. उन्हें पता है कि इनके बिना केंद्र की सरकार बन ही नहीं सकती.

प्रदेश के गन्ना किसानों की नब्ज पर हाथ रखते हुए मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसानों के छह हजार करोड़ रुपए बकाया हैं. गुजरात में विजयदशमी से पेराई कार्य शुरू हो जाता है लेकिन हमें पता लगा कि यहां दीपावली गुजर गयी लेकिन चीनी मिलें चलना शुरू नहीं हुईं.

मोदी ने गुजरात के विकास का जिक्र करते हुए कहा कि विरोधी आरोप लगाते हैं कि गुजरात पहले से ही विकसित है। लेकिन ऐसा नहीं है। गुजरात में तो बिजली ही नहीं मिलती थी। लोग कहते थे कम से कम रात को खाते समय तो बिजली दे दो। हमने इस पर काम किया और आज गुजरात में 24 घंटे बिजली रहती है। लेकिन यूपी का हाल तो बहुत बुरा है। यहां तो बिजली आना ही बड़ी खबर बन जाता है।

Scroll To Top
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Hit Counter provided by laptop reviews