Latest News
You are here: Home / News / चुनाव आयोग ने फ्री ‘नमो चाय’ को बताया रिश्वत

चुनाव आयोग ने फ्री ‘नमो चाय’ को बताया रिश्वत

नई दिल्ली/लखनऊNamo Tea 1
बीजेपी अब लोगों को मुफ्त में ‘नमो’ चाय नहीं पिला पाएगी। चुनाव आयोग ने बीजेपी को झटका देते हुए पार्टी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी के नाम पर चल रहे ‘नमो’ टी स्टॉल में लोगों को मुफ्त चाय पिलाने को रिश्वत माना है। चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में मुफ्त चाय पिलाने पर बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। इसके अलावा नमो टी स्टॉल्स पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

गौरतलब है कि बीजेपी ‘नमो चाय’ के साथ नरेंद्र मोदी की जमकर ब्रैंडिंग कर रही है। नरेंद्र मोदी के ‘चाय पर चर्चा’ कार्यक्रम के दौरान लोगों को मुफ्त चाय बांटी जाती है। इसके अलावा चुनावी रैलियों में भी लोगों को मुफ्त चाय पिलाने की शिकायतें आई हैं।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में टीवी स्क्रीन पर मोदी का भाषण सुन रहे लोगों को फ्री में चाय परोसने पर बीजेपी कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किया गया है। बीजेपी कार्यकर्ताओं पर इस कार्यक्रम के लिए स्थानीय अधिकारियों से इजाजत न लेने का आरोप है। चुनाव आयोग ने इस मामले में मोहम्मदी नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष संदीप मल्होत्रा समेत बीजेपी के स्थानीय नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया है। चुनाव आयोग ने स्थानीय चुनाव अधिकारियों से नमो टी स्टॉल्स पर नजर रखने को कहा है।

उत्तर प्रदेश के चीफ इलेक्शन ऑफिसर के मुताबिक राजनीतिक दलों द्वारा लोगों को कुछ भी मुफ्त बांटने को रिश्वत माना जाएगा। इसकी इजाजत नहीं दी जाएगी। यूपी के जॉइंट चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर रमाकांत पांडे के मुताबिक चुनाव अधिकारियों को नमो टी स्टॉल्स और चाय पर चर्चा कार्यक्रमों पर नजर रखने को कहा गया है।

उधर, उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने इस पर कहा कि पार्टी नमो चाय के लिए कुछ मूल्य रख देगी। हम चुनाव आयोग के आदेश का पूरा सम्मान करेंगे।

Scroll To Top
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Hit Counter provided by laptop reviews