Latest News
You are here: Home / News / RJD के प्रचार के लिए बिहार में ‘मधुबाला’ और ‘हसीना नंबर वन’ तैयार

RJD के प्रचार के लिए बिहार में ‘मधुबाला’ और ‘हसीना नंबर वन’ तैयार

पटना। बिहार में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दल अब प्रचार में जुट गए हैं। बीजेपी जहां चुनाव प्रचार के लिए परिवर्तन रथ का सहारा ले रही है, वहीं सत्ताधारी जेडीयू  हर घर दस्तक कार्यक्रम के तहत मतदाताओं के पास पहुंच रही है। इसी कड़ी में आरजेडी के प्रचार के लिए भी ‘हसीना नंबर वन’, ‘मधुबाला’ और ‘तहलका’ टमटम तैयार है। आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद ने भाजपा के हाईटेक प्रचार को टक्कर देने के लिए 1000 टमटम प्रचार में उतारने की घोषणा की है।Lalu Yadav 001

 लालू अपनी खास शैली के लिए प्रसिद्ध हैं और वह आगामी चुनाव के लिए देसी अंदाज में चुनाव प्रचार का आगाज करने जा रहे हैं और इसके लिए 500 से ज्यादा टमटम पटना पहुंच गए हैं। पटना पहुंचे सभी टमटमों में आरजेडी का झंडा और पोस्टर लगाए गए हैं तथा चुनाव चिन्ह ‘लालटेन’ को करीने से सजाया गया है।

आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे कहते हैं कि पटना पहुंचे टमटम राजगीर, नालंदा, महुआ और आरा से मंगवाए गए हैं, जबकि सहरसा के टमटमों को यहां अभी पहुंचना बाकी है। उन्होंने दावा किया के आरजेडी के प्रचार में 1000 से ज्यादा टमटम लगाए जाएंगे।

पूर्वे के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति डॉ़ कलाम के निधन के बाद कार्यक्रम में परिवर्तन किया गया है। संभावना है कि राष्ट्रीय शोक समाप्त होने के बाद इन सभी टमटमों को पटना से रवाना किया जाएगा।राजगीर से पटना पहुंचे एक टमटम के चालक अमित कहते हैं कि राजद के प्रचार के लिए हम पटना आए हैं और फिर हम राजगीर जाएंगे जहां टमटम को चुनाव प्रचार में लगाया जाएगा।  उनका कहना है कि अभी पैसा तय नहीं हुआ है, परंतु राजगीर में भी प्रतिदिन 200 से 300 रुपये कमा लेता था। चुनाव प्रचार के लिए तो ज्यादा ही पैसा मिलेगा

चुनाव प्रचार में उतरने वाले टमटम भी पूरे सजेधजे हैं। टमटम ‘सूर्यमुखी’ के घोड़ों को नहला कर और टमटम साफ कर प्रचार में जाने के लिए तैयार किया गया है। वहीं अन्य टमटम ‘हसीना नंबर वन’, ‘मधुबाला’, ‘रिमझिम तांगे वाले’ भी प्रचार के लिए तैयार हैं। सहरसा में भी आरजेडी के कार्यकर्ता टमटम की खोज में जुटे हुए हैं।

सहरसा में आरजेडी के जिला अध्यक्ष मोहम्मद ताहिर कहते हैं कि लालू प्रसाद के संदेश के बाद टमटम की खोज की जा रही है। पूर्व में ही लालू जी ने 500 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से भाड़ा तय कर दिया है। उनका मानना है कि कुछ वर्ष पूर्व तक सहरसा में टमटम बड़ी संख्या में चला करते थे, परंतु अब स्थिति बदल गई है। अब बहुत कम टमटम क्षेत्र में रह गए हैें।

पटना के मारूफगंज टमटम पड़ाव के टमटम चालक राहुल कहते हैं कि पटना में आरजेडी के कार्यक्रमों में टमटमों को बुलाया जा रहा है। उनका कहना है कि पटना में ही कम से कम 400 टमटम हैं। उन्होंने बताया कि अब तक पटना के टमटम वालों को आरजेडी के प्रचार के लिए बुलाया नहीं गया है। लेकिन जब बुलाया जाएगा और सही किराया मिलेगा तो प्रचार करने में क्या दिक्कत है।

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष पूर्वे कहते हैं कि इन सभी टमटमों को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद हरी झंडी दिखाकर पटना से रवाना करेंगे। उन्होंने बताया कि साउंड सिस्टम से लैस इन टमटमों पर कार्यकर्ता भी सवार रहेंगे।

Scroll To Top
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Hit Counter provided by laptop reviews