Latest News
You are here: Home / News / मोदी के खिलाफ वाराणसी में केजरीवाल तो वडोदरा में मिस्त्री

मोदी के खिलाफ वाराणसी में केजरीवाल तो वडोदरा में मिस्त्री

Modi 002दिल्ली। बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्षी दलों ने रणनीति तेज कर दी है। वाराणसी और वडोदरा में मोदी के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार मैदान में उतर रहे हैं। वराणसी में जहां आप नेता अरविंद केजरीवाल ने मोदी के खिलाफ ताल ठोकने का ऐलान कर दिया है, वहीं वडोदरा में कांग्रेस नेता मधुसूदन मिस्त्री खुद मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।

मंगलवार को केजरीवाल ने वाराणसी में रोड शो और रैली की। इसी दौरान उन्होंने मोदी के खिलाफ लड़ने का ऐलान किया। केजरीवाल के बनारस पहुंचते ही विरोध का दौरा शुरू हो गया। कहीं उनके काफिले पर अंडे फेंके गए तो कहीं स्याही। रैली में केजरीवाल ने कहा कि हमारे काफिले पर अंडे फिंके, स्याही फेंकी गई।

गुजरात में भी जगह-जगह ऐसा हुआ। बीजेपी वाले हमला दर हमला कर रहे हैं। अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ कुमार विश्वास लड़ रहे हैं। वहां कांग्रेसी आए दिन कुमार विश्वास पर कभी स्याही तो कभी पत्थर फेंकते हैं। क्या कांग्रेसियों ने कभी नितिन गडकरी को, येदुरप्पा को, नरेंद्र मोदी को काले झंडे दिखाए हैं। क्या बीजेपी वालों ने कभी सोनिया गांधी, राहुल गांधी, सुरेश कलमाड़ी को काले झंडे दिखाए हैं।

केजरीवाल ने कहा कि मुझे बीजेपी वाले भगोड़ा कह रहे हैं। उसूलों को लेकर इस्तीफा दिया तो बीजेपी के लिए मैं भगोड़ा हो गया। शुक्र है लाल बहादुर शास्त्री के जमाने में बीजेपी वाले नहीं थे, वर्ना रेल हादसे के बाद उनके इस्तीफे पर उन्हें भगोड़ा कहा जाता। पिता के कहने पर भगवान राम जेल चले गए, कैकयी के कहने के बावजूद भरत नहीं माने और भाई के लिए राजपाट त्याग दिया, राजा हरिशचंद्र ने सपने में किए वादे पर राजपाट छोड़ दिया, अगर बीजेपी उस समय होती तो इन सबको भगोड़ा करार देती। बीजेपी क्या जाने उसूलों के लिए त्याग क्या होता है। वो अपने एक सरपंच से इस्तीफा दिलाकर दिखाए।

केजरीवाल ने कहा कि मुझे अगर सांसद बनने का शौक होता तो अपने लिए सुरक्षित सीट ढूंढता। अगर सत्ता का सुख होता तो सीएम की कुर्सी क्यों छोड़ता। मैं देश को बचाने आया हूं। कांग्रेस ने पिछले 10 साल के करप्शन के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और उनका विकल्प बताए जा रहे नरेंद्र मोदी निजी कंपनियों के हित में काम करते हैं। मीडिया ने पिछले एक साल में जानबूझकर एक साजिश के तहत उनकी ऐसी छवि बनाई है कि जो लोग कभी गुजरात नहीं गए, वो भी कह रहे हैं कि मीडिया दिखा रहा है कि गुजरात में विकास हुआ है तो हुआ ही होगा, इसलिए वो मोदी को वोट देंगे।

वडोदरा में मोदी बनाम मिस्त्री

उधर, कांग्रेस अभी वाराणसी में नरेंद्र मोदी के खिलाफ कैंडीडेट ढूंढ ही रही थी कि वडोदरा से मोदी के खिलाफ उसके प्रत्याशी ने भी अपना टिकट सरेंडर कर दिया। पार्टी ने अब यहा से आनन-फानन में राहुल गांधी के करीबी मधुसूदन मिस्त्री को टिकट दिया है।

कांग्रेस ने वडोदरा सीट पर हुई प्राइमरी में जीत हासिल करने वाले नरेंद्र रावत को टिकट दिया था लेकिन नरेंद्र मोदी के यहां से उम्मीदवार बनने के बाद नरेंद्र रावत ने कल अपना टिकट सरेंडर कर दिया और आलाकमान से अपील की कि यहां से किसी कद्दावर नेता को उम्मीदवार बनाया जाए जो मोदी का मुकाबला करने में सक्षम हो। कांग्रेस ने रावत की जगह अब अपने यूपी प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री को उम्मीदवार बनाया है। मिस्त्री ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने मुझे मौका दिया है। मोदी भी लड़ें, मैं भी लड़ूंगा। देखते हैं कौन जीतता है। मिस्त्री ने कहा कि मोदी भला क्यों सेफ सीट ढूंढ रहे हैं। उनको खुद पर भरोसा नहीं है। क्यों नहीं वो साबरकांठा से चुनाव लड़ते। मैं उनकी सीट पर लड़ रहा हूं, वो क्यों नहीं मेरी सीट पर लड़ते। मिस्त्री ने कहा कि वाराणसी से भी मोदी के खिलाफ मजबूत कैंडीडेट आएगा।

Scroll To Top
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Hit Counter provided by laptop reviews