Latest News
You are here: Home / News / बजट सत्र के बाद फिर बजेगा चुनावी बिगुल

बजट सत्र के बाद फिर बजेगा चुनावी बिगुल

Voter Protactionआम चुनाव के बाद देश के कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने जा रहा है। चुनाव आयोग के सूत्रों के अनुसार बजट सत्र के तुरंत बाद ही महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की घोषणा होगी। वोटिंग दशहरा और दीवाली के बीच होने की संभावना है। जम्मू-कश्मीर में चुनाव लंबे चरणों में होगा। चूंकि हरियाणा में विधानसभा का गठन अक्टूबर के तीसरे हफ्ते से पहले करना है, ऐसे में चुनावी प्रक्रिया अगस्त के अंतिम हफ्ते से शुरू हो जाएगी।

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से अपने पहले भाषण में चुनाव वाले राज्यों के लिए कुछ बड़ी घोषणाएं कर सकते हैं। साथ ही इससे चुनाव का टोन भी सेट हो जाएगा। जानकारों के अनुसार इन चुनावों में भी मोदी ही सबसे अहम फैक्टर होंगे। बीजेपी जहां उनके सहारे इन राज्यों में जीत का परचम लहराएगी, वहीं कांग्रेस उनके शासन को टारगेट करेगी। दिलचस्प बात है कि जिन राज्यों में चुनाव होने हैं, वहां सरकार कांग्रेस या कांग्रेस सर्मथित दल की है।

इन राज्यों में सबसे अहम होगा महाराष्ट्र का चुनाव। जहां कांग्रेस के लिए पश्चिमी भारत में एकमात्र किला बचाने की चुनौती है, वहीं मोदी लहर की बदौलत बीजेपी को भरोसा है कि इकॉनमी के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण इस राज्य पर अपना कब्जा कर लेगी। यहां कांग्रेस-एनसीपी लगातार तीन बार से चुनाव जीत चुकी हैं। हालांकि कांग्रेस-एनसीपी, बीजेपी-शिवसेना के बीच सीटों को लेकर तनातनी और राज ठाकरे के बतौर सीएम उम्मीदवार चुनाव में उतरने से राजनीति बेहद दिलचस्प हो गई है।

जम्मू-कश्मीर में 6 साल का टर्म
जम्मू-कश्मीर एकमात्र ऐसा राज्य है जहां असेंबली का टर्म 6 साल का होता है। वहां इससे पहले 2008 नवंबर-दिसंबर में चुनाव हुए थे, जब नैशनल कॉन्फ्रेंस की सरकार बनी थी। हालांकि लोकसभा चुनाव के परिणाम से उत्साहित बीजेपी ने 87 सीट वाले इस राज्य में मिशन 44 का अभियान छेड़ रखा है। वहीं कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस का गठबंधन टूट गया है। कांग्रेस और नैशनल कॉफ्रेंस के बीच बीते कुछ समय से अनबन की खबरें आ रही थीं। पीडीपी भी अस्थिर राजनीति का लाभ लेने के लिए जमीन पर पूरी मेहनत कर रही है।

चुनाव आयोग के सूत्रों के अनुसार अगर उन्हें दिल्ली में चुनाव कराने को कहा जाता है, तो वह इन राज्यों के साथ यहां भी विधानसभा चुनाव करवा सकती है। फिलहाल यहां राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है। लेकिन इस बारे में अंतिम फैसला केंद्र सरकार को लेना है।

राज्य सरकारों कार्यकाल कब खत्म हो रहा है :-

महाराष्ट्र- 7 दिसंबर 2014
हरियाणा – 27 अक्टूबर 2014
झारखंड- 2 जनवरी 2015
जम्मू-कश्मीर- 19 जनवरी 2015
अरुणाचल प्रदेश- 4 नवंबर 2014

Scroll To Top
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com

Hit Counter provided by laptop reviews